Health Tips: पथरी होने के क्या है लक्षण, जानें इससे निजात पाने के घरेलु उपाय

2 months ago 25

हेल्थ टिप्स: पथरी होना आजकल एक आम समस्या बन गई है। गलत भोजन करना और आवश्यकता से कम पानी पीना गुर्दे की पथरी का मुख्य कारण है। यह जानते हुए भी, हम अपनी किडनी की सुरक्षा के प्रति उदासीन रहते हैं। किडनी की पथरी कई कारणों से हो सकती है जैसे गलत जीवनशैली, गलत खान-पान या साफ पानी और स्वच्छ चीजें न खाना।

कई लोगों के तो पित्ताशय में पथरी बन जाती है और बिना किसी परेशानी के आसानी से निकल भी जाते हैं, लेकिन अगर पित्ताशय की थैली बड़ी हो जाती है तो यह मूत्र के रास्ते में बाधा डालने लगती है। पेशाब के रास्ते में असहनीय दर्द होता है और पेशाब में जलन होने लगती है। आईये आज हम आपको बताते है कि पथरी होने के लक्षण क्या होते है और इससे निजात पाने के लिए हमे कौन से घरेलु उपाए अपनाने चाहिए।

गुर्दे की पथरी के लक्षण निम्नलिखित हो सकते है

:- पीठ में या पेट के पास असहनीय दर्द

:- अचानक दर्द का बार-बार बढ़ना और घटना

:- मूत्र में रक्त का आना या दर्द होना

:- उल्टी होना या उल्टी होने जैसा मन विचलित होना

:- पेशाब करते समय जलन का अनुभव होना

पथरी से निजात पाने के घरेलु उपचार

व्हीटग्रास जूस

व्हीटग्रास जूस यानी गेंहू के हरे पौधों का जूस, इसमें में कुछ ऐसे तत्व होते हैं, जो मूत्र निर्माण में मदद करते हैं। इससे पेशाब का किडनी के रास्ते से गुजरना आसान हो जाता है। व्हीटग्रास में एंटी-ऑक्सीडेंट होते हैं जो मूत्र पथ में मौजूद कैल्शियम जमा को खत्म करने में मदद करते हैं।

तुलसी के पत्ते

तुलसी के पत्ते में कुछ तत्व होते हैं जो यूरिक एसिड के स्तर को स्थिर करते हैं। इस वजह से गुर्दे की पथरी नहीं बन सकती है। तुलसी में एसिटिक एसिड भी होता है जो गुर्दे की पथरी को घुलने और खत्म करने में मदद करता है। रोजाना एक चम्मच तुसली का रस पीने से गुर्दे की पथरी को खत्म किया जा सकता है।

नींबू का रस

नींबू में पाया जाने वाला साइट्रेट नामक एक तत्व कैल्शियम जमा को तोड़ने में मदद करता है और पथरी विकास प्रक्रिया को धीमा कर देता है। आप या तो भोजन के बाद रोजाना नींबू का रस ले सकते हैं या आप इसे अपने नियमित आहार में शामिल कर सकते हैं।